बिल गेट्स ने कहा, काश! वॉरेन बफे से यह सबक मैं जल्दी सीख लिया होता

ViralUnzip
2 Min Read

बिल गेट्स और वॉरेन बफे ने तीन दशक पुरानी अपनी दोस्ती में एक-दूसरे को दी गई कुछ वित्तीय सलाहों को साझा किया है। गेट्स ने इससे मिले एक सबक के बारे में हाल में बात की थी। उनका कहना था कि यह सलाह कुछ ऐसी थी कि अगर वह इसे पहले सीखते तो वह ज्यादा खुश और प्रोडक्टिव रह सकते थे। गेट्स ने हाल में थ्रेड्स पर लिखा था, ‘ मुझे यह अहसास करने में काफी वक्त लग गया कि आप को सफल होने के लिए हर सेकेंड का शेड्यूल तय करना जरूरी नहीं है। जब मैं पीछे छुड़कर देखता हूं तो मुढे लगता है कि मुझे यह सबक थोड़ा जल्दी सीख लेना चाहिए था।’

बिल गेट्स ने बताया कि माक्रोसॉफ्ट के CEO के तौर पर 25 साल तक का उनका हर मिनट शेड्यूल पर आधारित होता है। जब तक वह इस पद पर रहे, तब तक उनका सिलसिला ऐसे ही चला। उन्होंने माक्रोसॉफ्ट के CEO पद से साल 2000 में इस्तीफा दिया था। गेट्स ने खुद को एक बेहद मुश्किल बॉस बताया था, जो रात के 2 बजे भी एंप्लॉयीज को रिक्वेस्ट भेजने में संकोच नहीं करता था।

गेट्स ने इसी इंटरव्यू में कहा था, ‘मुझे लगता था कि आप इसी तरह से काम कर सकते हैं।’ गेट्स का कहना था कि उन्होंने बर्कशायर हैथवे के CEO से इस तरीके में बदलाव करना सीखा। उन्होंने कहा, ‘मुझे याद है कि वॉरेन मुझे अपना कैलेंडर दिखाते थे और उनके पास कई ऐसी तारीखें होती थीं, जहां कुछ नहीं होता था।’ उन्होंने कहा कि बफे के शेड्यूल के इस अंदाज ने एक अहम सीख दी। उनका कहना था, ‘ आप अपने टाइम को कंट्रोल करते हैं…आपको अपनी गंभीरता अपने शेड्यूल में हर मिनट भरने की जरूरत नहीं है।’

इसी इंटरव्यू में बफे ने कहा था, ‘ मैं आम तौर पर जो चाहे खरीद सकता हूं, लेकिन मैं समय नहीं खरीद सकता।’

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *