Elon Musk’s Pay Package: टेस्ला शेयरहोल्डर्स को एलॉन मस्क का $56 अरब का पे पैकेज रिजेक्ट करने की सलाह, क्या है वजह

ViralUnzip
3 Min Read

प्रॉक्सी एडवायजरी फर्म ‘ग्लास लुइस’ ने टेस्ला के शेयरधारकों से सीईओ एलॉन मस्क के लिए 56 अरब डॉलर के पे पैकेज को नामंजूर करने का आग्रह किया है। अगर मस्क के लिए यह पे पैकेज पास हो जाता है तो अमेरिका के कॉरपोरेट वर्ल्ड में किसी सीईओ के लिए यह सबसे बड़ा पे पैकेज होगा। रॉयटर्स के मुताबिक, ग्लास लुइस की ​रिपोर्ट में वेतन सौदे के अत्यधिक बड़े आकार, एक्सरसाइज पर डायल्यूटिव इफेक्ट और मालिकाना हक के कॉनसंट्रेशन जैसे कारणों का हवाला दिया गया है। साथ ही मस्क के बेहद वक्त लेने वाले असाधारण प्रोजेक्ट्स का भी उल्लेख किया गया है।

एलॉन मस्क (Elon Musk) के लिए इतने मोटे पे पैकेज का प्रस्ताव टेस्ला (Tesla) के बोर्ड ने रखा था, जो मस्क के साथ अपने घनिष्ठ संबंधों के लिए बार-बार आलोचना का शिकार हुआ है। पैकेज में कोई सैलरी या नकद बोनस नहीं है और टेस्ला की मार्केट वैल्यू के आधार पर रिवॉर्ड्स निर्धारित किए गए हैं। टेस्ला ने शेयरधारकों से इस कंपंजेशन पर अपनी मंजूरी की फिर से पुष्टि करने का आग्रह किया है। LSEG डेटा के अनुसार, कंपनी की वैल्यूएशन वर्तमान में लगभग 571.6 अरब डॉलर है।

डेलावेयर कोर्ट रद्द कर चुका है यह पे पैकेज

इस साल जनवरी में डेलावेयर चांसरी जज कैथलीन सेंट जे. मैककॉर्मिक ने, डायरेक्टर्स के हितों के टकराव और प्लान्स की डिटेल्स को ठीक से प्रकट करने में कंपनी की विफलता के कारण एलॉन मस्क के पे पैकेज को रद्द कर दिया था। इसके बाद मस्क ने टेस्ला को अपने कॉरपोरेट होम को डेलावेयर से टेक्सास में शिफ्ट करने के लिए कहा। ग्लास लुइस ने टेस्ला के कॉरपोरेट होम को टेक्सास में शिफ्ट करने के प्रस्तावित कदम की भी आलोचना की है। कहा गया है कि इस कदम से शेयरधारकों के लिए लाभ अनिश्चित है और अतिरिक्त जोखिम है।

Aurobindo Pharma Q4 Results: शुद्ध मुनाफा में 80% की भारी उछाल, रेवेन्यू भी 19% बढ़कर ₹7,580 करोड़ रहा

टेक्सास में शिफ्ट नहीं होगा केस

टेस्ला के बोर्ड का कहना है कि एलॉन मस्क के 56 अरब डॉलर पे पैकेज को लेकर डेलावेयर में चल रहे कोर्ट केस को टेक्सास में शिफ्ट नहीं किया जाएगा। फिर भले ही शेयरधारक टेक्सास में टेस्ला के रीइनकॉरपोरेशन की मंजूरी दें या न दें। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जून में वोटिंग इस बात पर होगी कि क्या कंपनी को डेलावेयर को छोड़ देना चाहिए और मस्क के कंपंजेशन प्लान को बहाल करना चाहिए।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *