Hyundai Motor IPO: हुंडई मोटर लाएगी भारत का सबसे बड़ा IPO? कोटक और मॉर्गन स्टैनली को बनाया एडवाइजर्स

ViralUnzip
4 Min Read

Hyundai Motor India IPO: साउथ कोरिया की दिग्गज ऑटो कंपनी हुंडई मोटर (Hyundai Motor), अपनी भारतीय इकाई को शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराने की तैयारी में है। यह भारत का अबतक का सबसे बड़ा इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) हो सकता है। हुंडई मोटर ने इस IPO के लिए हाल ही में कोटक महिंद्रा बैंक और मॉर्गन स्टैनली को अपने इनवेस्टमेंट एडवाजर्स के रूप में नियुक्त किया है। इस मामले से वाकिफ 4 लोगों ने मनीकंट्रोल को यह जानकारी दी। हुंडई मोटर इसके अलावा सिटी, जेपी मॉर्गन और HSBC सिक्योरिटीज को पहले से ही एडवाजर्स के रूप में पैनल में शामिल कर चुकी है।

सूत्रों ने बताया कि कंपनी के IPO का साइज 2.5 से 3 अरब डॉलर के बीच हो सकता है। भारतीय रुपये में इसकी वैल्यू 20,700 करोड़ से लेकर 24,900 करोड़ रुपये होती है। अगर IPO का साइज इसकी ऊपरी सीमा के करीब रहा, तो यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ हो सकता है।

अभी तक सबसे बड़े IPO का रिकॉर्ड लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) के नाम है। LIC ने मई 2020 में 2.7 अरब डॉलर का आईपीओ लाया था।

एक सूत्र ने बताया, “कोटक महिंद्रा कैपिटल और मॉर्गन स्टेनली हाल ही में एडवाइजर्स के पैनल में शामिल हुए हैं। कंपनी जून के अंत या जुलाई में SEBI के पास आईपीओ के लिए आवेदन जमा करा सकती है। अगर यह लिस्टिंग सफल रही तो यह भारत में कारोबार कर दूसरी मल्टीनेशनल कंपनियों को अपनी भारतीय इकाई की आईपीओ लाने के लिए प्रेरित करेगा।”

एक दूसरे व्यक्ति ने भी इस जानकारी की पुष्टि की और कहा कि हुंडई अपनी भारतीय इकाई को करीब 20 अरब डॉलर के वैल्यूएशन पर लॉन्च करने की तैयारी कर रही है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अभी वैल्यूएशन और आईपीओ के साइज को अंतिम रूप नहीं दिया गया है और कंपनी अपनी रणनीति या बाजार की स्थितियों के आधार पर आगे इसमें बदलाव कर सकती है। सूत्र ने कहा ड्राफ्ट पेपर दाखिल होने के बाद अधिक स्पष्टता की उम्मीद की जा सकती है।

इससे पहले आई मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि हुंडई मोटर अपनी भारतीय इकाई के लिए 22 से 30 अरब डॉलर के बीच वैल्यूएशन चाहती है। बता दें हुंडई मोटर बिक्री के लिहाज से, देश की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी है। इससे ऊपर सिर्फ मारुति सुजुकी है।

एक तीसरे व्यक्ति ने मनीकंट्रोल को बताया कि यह IPO पूरी तरह से ऑफर-फॉर-सेल (OFS) होगा, जिसमें पैरेंट कंपनी अपनी हिस्सेदारी को बेचेगी। Autocar Professional के मुताबिक, वित्त वर्ष 2023 में हुंडई मोटर का रेवेन्यू करीब 60,000 करोड़ रुपये और शुद्ध मुनाफा 4,653 करोड़ रुपये रहा था। यह किसी भी गैर-लिस्टेड ऑटो कंपनी में सबसे अधिक था।

यह भी पढ़ें- इस AC कंपनी के शेयरों में क्यों लगा 20% का अपर सर्किट? रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा भाव

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *