I.N.D.I.A. गठबंधन बहुसंख्यक समाज को दोयम दर्जे का नागरिक बनाना चाहता है: PM मोदी

ViralUnzip
6 Min Read

Lok Sabha Elections 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (26 मई) को समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनका I.N.D.I.A. (इंडियन नेशनल डेवलेपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस) गठबंधन भारत में बहुसंख्यक समाज को दोयम दर्जे का नागरिक बनाना चाहता है। प्रधानमंत्री मोदी रविवार को उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के रतनपुरा स्थित भुड़सुरी मेवाडी कला में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के घटक दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के घोसी क्षेत्र के उम्मीदवार अरविंद राजभर, बलिया क्षेत्र के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार नीरज शेखर और सलेमपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद एवं उम्मीदवार रवींद्र कुशवाहा के समर्थन में एक संयुक्त चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे।

भोजपुरी में शुरू किया भाषण

भोजपुरी में अपने भाषण की शुरुआत करते हुए उन्‍होंने कहा, “पूर्वांचल की यह धरती पराक्रम और क्रांति की धरती है। यह वह इलाका है जहां मंगल पांडेय का साहस है, जहां महाराजा सुहेलदेव का पराक्रम है और स्वर्गीय चंद्रशेखर जी की मुखर आवाज है। ऐसे में पूर्वांचल के लिए तो इस चुनाव का महत्व दोगुना है।”

उन्‍होंने आरोप लगाया कि सपा और कांग्रेस के परिवारवाद ने पूर्वांचल को माफिया, अभाव, गरीबी एवं लाचारी का क्षेत्र बना दिया था। लेकिन 10 साल से पूर्वांचल देश का प्रधानमंत्री चुन रहा है। सात साल से उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री चुन रहा है और इसलिए पूर्वांचल सबसे खास है।

सपा-कांग्रेस पर बोला हमला

प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि I.N.D.I.A. गठबंधन के लोगों ने जमीनों पर कब्जा किया और यहां दंगाइयों को ताकत दी। उन्होंने कहा कि जो माफिया के लिए आंसू बहाते हैं, ऐसे लोगों को पूर्वांचल में पैर नहीं रखने देना है।

पीएम मोदी ने कहा, “1 जून को मतदान से पहले हमारा पूर्वांचल मन बना चुका है कि BJP को जिताना है, राजग को जिताना है। पूर्वांचल के गरीब बेटे को ताकत देना जो आपकी सेवा में दिन रात एक कर रहा है। पूर्वांचल उसे ताकत नहीं देगा जो आपको गरीब बनाए रखना चाहते हैं।”

PM ने कहा, “आज मैं पूर्वांचल को, घोसी के लोगों को I.N.D.I.A. गठबंधन की बड़ी साजिश से सतर्क करने आया हूं।” उन्‍होंने आरोप लगाया कि I.N.D.I.A. गठबंधन सभी जातियों को आपस में लड़ा रहा है।

PM ने बताया क्या है विपक्ष का 3 लक्ष्य?

पीटीआई के मुताबिक पीएम मोदी ने दावा किया, “ये तीन बड़ी साजिशों को पूरा करने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं। एक तो I.N.D.I.A. गठबंधन वाले संविधान बदलकर उसमें नये सिरे से लिख देंगे कि भारत में धर्म के आधार पर आरक्षण दिया जाए। दूसरा ये एससी, एसटी और ओबीसी को मिलने वाला आरक्षण खत्म कर देंगे तथा तीसरा पूरा का पूरा आरक्षण धर्म के आधार पर मुसलमानों को दे देंगे।”

प्रधानमंत्री ने दावा किया, “आज सपा-कांग्रेस का I.N.D.I.A. गठबंधन भारत में बहुसंख्यक समाज को दोयम दर्जे का नागरिक बनाना चाहता है।” PM मोदी ने सपा और कांग्रेस के 2012 के विधानसभा और 2014 के लोकसभा चुनाव के घोषणा पत्र की याद दिलाते हुए कहा, “2012 में सपा ने अपने घोषणापत्र में साफ लिखा है कि जैसा आरक्षण बाबा साहब ने दलितों को दिया वैसा ही आरक्षण मुसलमानों को दिया जाएगा।”

उन्‍होंने कहा, “कांग्रेस ने 2014 से पहले स्‍कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय को अल्पसंख्यक संस्थान घोषित करने के लिए रातों रात कानून बदल दिया और हजारों शैक्षणिक संस्‍थानों को अल्पसंख्यक घोषित कर दिया था। पहले इसमें एससी, एसटी, ओबीसी को आरक्षण मिल रहा था, वह पूरा खत्म हो गया और मुसलमानों को आरक्षण मिल गया।”

बंगाल आरक्षण का किया जिक्र

पश्चिम बंगाल में मुसलमानों को आरक्षण से संबंधित मामला अदालत में होने का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में अटका है और यह मामला इसलिए अटका है क्योंकि बाबा साहब लिखकर गये थे कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जा सकता है।

उन्‍होंने दावा किया, ”वोट बैंक के भूखे सपा और कांग्रेस वाले बाबा साहब के संविधान को बदलना चाहते हैं ताकि मुसलमानों को ओबीसी का आरक्षण छीनकर देने का जो षड़यंत्र हैं, उसे अदालत में जाकर कोई चुनौती न दे सके।”

राम मंदिर पर विपक्ष को घेरा

अयोध्या में भगवान श्री राम मंदिर निर्माण का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया, ”अयोध्या में भव्‍य राम मंदिर बना और पूरी दुनिया के लोग वहां रामलला के दर्शन करने जा रहे, लेकिन और सपा कांग्रेस के लोगों ने राम लला प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण को ठोकर मार दी।”

पीएम मोदी ने दावा किया, ”ये चुनाव के समय मंदिरों में जाने का दिखावा करते लेकिन 500 साल बाद हमारी आस्‍था का इतना बड़ा पर्व आया तो ये लोग राम मंदिर को गालियां देने लगे। ये लोग राम मंदिर बनने से नाराज हुए।” उन्‍होंने यह भी आरोप लगाया कि विपक्ष शाहबानो की तर्ज पर राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट फैसले को पलटना चाहता है।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *