लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 39% उम्मीदवार करोड़पति, 180 के खिलाफ दर्ज हैं क्रिमनल केस, ADR की रिपोर्ट

ViralUnzip
3 Min Read

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में चुनाव लड़ रहे लगभग 39 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति हैं, जिनकी औसत संपत्ति 6.21 करोड़ रुपए है। चुनाव अधिकार संस्था ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ (एडीआर) ने यह जानकारी दी। एडीआर के विश्लेषण में कहा गया है कि 25 मई को छठे चरण में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों में सबसे ज्यादा संपत्ति कुरुक्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार नवीन जिंदल की है, जिन्होंने 1,241 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की है, उनके बाद संतृप्त मिश्रा की 482 करोड़ रुपए और सुशील गुप्ता की 169 करोड़ रुपए है।

लोकसभा चुनाव लड़ रहे 866 उम्मीदवारों में से 338 (39 प्रतिशत) करोड़पति हैं और लोकसभा चुनाव के छठे चरण में प्रति उम्मीदवार औसत संपत्ति 6.21 करोड़ रुपए की है।

छठे चरण में बीजू जनता दल (BJD) के सभी छह उम्मीदवार, राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और जदयू के सभी चार-चार उम्मीदवार, भाजपा के 51 में से 48 (94 प्रतिशत), सपा के 12 में से 11 (92 प्रतिशत), कांग्रेस के 25 उम्मीदवारों में से 20 (80 प्रतिशत), आम आदमी पार्टी (आप) के पांच उम्मीदवारों में से चार (80 प्रतिशत) और अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (TMC) के नौ उम्मीदवारों में से सात (78 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने एक करोड़ रुपये से अधिक की संपत्तियां घोषित की है।

सबसे संपत्ति वाले निर्दलीय उम्मीदवार

सबसे कम संपत्ति वाले प्रत्याशियों में रोहतक से निर्दलीय उम्मीदवार मास्टर रणधीर सिंह शामिल हैं। सिंह ने अपनी संपत्ति दो रुपए घोषित की है। इसके बाद प्रतापगढ़ से SUCIC(C) के उम्मीदवार राम कुमार यादव ने 1686 रुपए की संपत्ति घोषित की है।

लगभग 411 (47 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने हलफनामे में देनदारियों की घोषणा की है।

कितने उम्मीदवारों के खिलाफ दर्ज हैं आपराधिक मुकदमे?

ADR के अनुसार, 866 उम्मीदवारों में से लगभग 180 (21 प्रतिशत) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं और 866 में से 141 (16 प्रतिशत) ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

इसके अनुसार कम से कम 12 उम्मीदवारों ने ऐसे मामलों की घोषणा की है, जिनमें उन्हें दोषी ठहराया गया है और छह उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ हत्या (IPC की धारा -302) से संबंधित मामले घोषित किए हैं।

ADR ने कहा कि 21 उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ हत्या के प्रयास (IPC की धारा 307) से संबंधित मामले घोषित किए हैं और 24 उम्मीदवारों ने महिलाओं के खिलाफ अपराध से संबंधित मामले घोषित किए हैं। इसने कहा कि 16 उम्मीदवारों ने घृणा फैलाने वाले भाषण से संबंधित मामले अपने खिलाफ घोषित किए हैं।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *