कौन होगा I.N.D.I.A. ब्लॉक का PM उम्मीदवार? खड़गे बोले- ‘यह सवाल तो कौन बनेगा करोड़पति जैसा है’

ViralUnzip
3 Min Read

Lok Sabha Elections 2024: जब कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से एक बार फिर पूछा गया कि अगर आपकी सरकार बनती है तो I.N.D.I.A. ब्लॉक की ओर से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा। इस पर कांग्रेस प्रमुख ने मजेदार जवाब दिया। बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन द्वारा होस्ट किए जाने वाले लोकप्रिय टीवी क्विज शो का जिक्र करते हुए खड़गे ने कहा, “यह सवाल तो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ जैसा है।” शिमला में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा, ”अगर हम सरकार बनाते हैं तो सभी नेता तय करेंगे कि उनका पीएम कौन होगा।”

खड़गे ने यह भी याद दिलाया कि कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) ने चुनाव से पहले पीएम उम्मीदवार का प्रस्ताव किए बिना 2004 से 2014 तक 10 वर्षों तक सरकार चलाई। खड़गे ने कहा कि अगर हमारी सरकार बनती है तो सभी नेता बैठकर तय करेंगे कि कौन प्रधानमंत्री बनेगा। उन्होंने कहा कि साल 2004 से 2014 तक UPA की सरकार रही है। इस दौरान भी चुनाव से पहले PM उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया गया था।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “2004 में कांग्रेस नेता चाहते थे कि सोनिया गांधी प्रधानमंत्री बनें लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। हमारे पास बहुमत नहीं था, हमारे पास 140 सीटें थीं। हम 2009 में 209 सीटों के साथ सत्ता में लौटे। हमने UPA गठबंधन बनाया और सरकार 10 साल के लिए चलाई।” बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, “कभी-कभी बुद्धिमान लोग भी इतिहास को भूल जाते हैं।”

पीएम और बीजेपी पर साधा निशाना

मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को हिंदू और मुसलमान में बांटने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नहीं है, बल्कि उनकी विचारधारा के खिलाफ हैं। बीजेपी पर निशाना साधते हुए खड़गे ने कहा कि पार्टी ने 2 करोड़ नौकरियों और महंगाई को लेकर देश से झूठ बोला।

खड़गे ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को झूठ कहा है। उन्होंने 2014 में दो करोड़ रोजगार, कालेधन की वापसी महंगाई कम करने की बात कही, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि हिमाचल में भी पीएम मोदी ने 2014 और 2019 में बड़े बड़े वादे किए। लेकिन उसके बाद मुड़कर नहीं देखा

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने 2014 और 2019 में बड़े वादे किए लेकिन उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा। जब हिमाचल प्रदेश प्राकृतिक आपदा से जूझ रहा था तो उन्होंने उसकी मदद नहीं की। बीजेपी देश में सरकारों को गिराने का काम कर रही है और अस्थिर करने की कोशिश की है।” हिमाचल प्रदेश की सभी चार लोकसभा सीटों के लिए मतदान 1 जून को होगा। नतीजे देश के बाकी हिस्सों की तरह 4 जून को आएंगे।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *