Market outlook : रिकॉर्ड ऊंचाई के बाद बाजार में कंसोलिडेशन, जानिए 27 मई को कैसी रह सकती है इसकी चाल

ViralUnzip
5 Min Read

रिकॉर्ड ऊंचाई के बाद बाजार में आज कंसोलिडेशन देखने को मिला है और अंत में ये निगेटिव रुझान के साथ सपाट बंद हुआ है। इंट्रा-डे में निफ्टी आज 23000 के पार निकल गया। इंट्रा-डे में सेंसेक्स और निफ्टी दोने ने नया हाई छुआ। PSE,तेल-गैस और बैंकिंग शेयरों में खरीदारी रही। एनर्जी, और ऑटो इंडेक्स भी बढ़त पर बंद हुए। हालांकि FMCG, रियल्टी और IT शेयरों पर दबाव रहा। फार्मा और मेटल शेयरों में भी बिकवाली रही। आज के कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 8 अंक गिरकर 75410 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं, निफ्टी 11 अंक गिरकर 22957 पर बंद हुआ है। निफ्टी बैंक 203 अंक चढ़कर 48972 पर बंद हुआ है। मिडकैप 6 अंक चढ़कर 52424 पर बंद हुआ है। जबकि डॉलर के मुकाबले रुपया 18 पैसे मजबूत होकर 83.10 के स्तर पर बंद हुआ है।

निफ्टी में 22,750-22,850 के आसपास गिरावट मिलने पर होगा खरीदारी का मौका: रेलिगेयर ब्रोकिंग के अजीत मिश्रा

रेलिगेयर ब्रोकिंग के अजीत मिश्रा का कहना है कि गुरुवार की तेजी के बाद बाजार में आज शांति से कारोबार हुआ और ये सपाट बंद हुआ। सपाट शुरुआत के बाद, निफ्टी आज पूरे कारोबारी सत्र में एक सीमित दायरे में घूमता रहा। लेकिन इंट्राडे में निफ्टी थोड़े समय के लिए 23,000 के हाई तक पहुंचने में कामयाब रहा। ऑटो, बैंकिंग और फाइनेंशियल शेयरों ने अच्छा प्रदर्शन किया। जबकि एफएमसीजी और रियल्टी में मुनाफावसूली हुई। मिड और स्मॉलकैप में भी सुस्ती रही। ये इंडेक्स लगभग सपाट बंद हुए।

बड़ी तेजी के बाद ठहराव आना आम बात है। ट्रेडरों को निफ्टी में 22,750-22,850 के आसपास की किसी भी गिरावट में खरीदारी करनी चाहिए। इस समय लार्ज-कैप और लार्ज-मिड कैप शेयरों को प्राथमिकता देते हुए चुनिंदा क्वालिटी शेयरों पर दांव लगाने की सलाह होगी।

 अब निफ्टी के 24,000 की ओर बढ़ने की संभावनाएं आ रहीं नजर

ट्रेडजिनी के सीओओ, त्रिवेश डी का कहना है कि अब निफ्टी के 24,000 की ओर बढ़ने की संभावनाएं दिख रही हैं। हालांकि उनका ये भी मानना है कि ऐसा होने के पहले निफ्टी में हल्का करेक्शन देखने को मिल सकता है। उन्होंने का “इस रैली में अच्छे वैल्यूएशन वाले लार्ज-कैप शेयरों का अहम योगदान है जबकि इसमें महंगे हो चुके शेयर पीछे छूट गए हैं। मेरा मानना है कि लार्ज-कैप के बेहतर प्रदर्शन का यह ट्रेंड आगे भी जारी रहेगा जिससे तेजी बढ़ेगी और बाजार में स्थिरता आएगी।”

डीआरचोकसी फिनसर्व (DRChoksey Finserv) के प्रबंध निदेशक देवेन चोकसी भी इस बात से सहमत हैं। उन्हें उम्मीद है कि अगले 3 सालों में और उसके बाद भी बेंचमार्क इंडेक्स 20 फीसदी सालाना (CAGR) की दर से बढ़ेंगे। उन्होंने कहा, “हमें उम्मीद है कि अगले 3-5 सालों में लार्जकैप में 18-20 फीसदी की ग्रोथ होगी, जबकि मिडकैप और स्मॉलकैप में 25-50 फीसदी के बीच ग्रोथ होने की उम्मीद है।”

सेंसेक्स और निफ्टी में तेजी में कारोबार, एक्सपर्ट्स के इन 4 स्टॉक्स में ट्रेडिंग से होगी तगड़ी कमाई

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के दीपक जसानी को महंगे वैल्यूएशन से लग रहा डर

हालांकि दूसरी तरफ एचडीएफसी सिक्योरिटीज के दीपक जसानी ने बाजार के कुछ हिस्सों में महंगे हो चुके वैल्यूएशन, चौथी तिमाही ने मिलेजुले नतीजों और मानसून के रुझान पर अपनी चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा, “यहां से, बाजार का रुझान इस बात पर निर्भर करेगा कि एफआईआई चुनाव नतीजों पर कैसी प्रतिक्रिया देते हैं। हालांकि ओवरशूट या अंडरशूट की उम्मीद है, लेकिन मार्केट के फंडामेंटल्स को अभी उचित नहीं ठहराया जा सकता है।”

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *