Sensex-Nifty New Recoed: सेंसेक्स ने रचा नया इतिहास, निफ्टी पहली बार 22,900 के पार; इन 5 कारणों से आज शेयर बाजार में बना रिकॉर्ड

ViralUnzip
6 Min Read

Sensex-Nifty at Record High: भारतीय शेयर बाजार में गुरुवार 23 मई को नया रिकॉर्ड बना। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों अपने अबतक के रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए। सेंसेक्स ने जहां करीब 1,200 अंकों की छलांग लगाकर 75,407.39 का अपना नया उच्चतम स्तर छुआ। वहीं निफ्टी करीब 1.5 प्रतिशत की तेजी के साथ पहली बार 22,900 के पार गया और इसने 22,959.7 के नए उच्चतम स्तर को छुआ। इस रिकॉर्ड तेजी के पीछे कई कारण रहे। इनमें कंपनियों के मार्च तिमाही के शानदार नतीजों, RBI का अबतक का सबसे अधिक डिविडेंड भुगतान और चुनाव नतीजों के बाजार के मुताबिक रहने की उम्मीद सहित आदि शामिल हैं। लार्जकैप आईटी और बैंकिंग शेयरों में खरीदारी से भी इंडेक्स को सपोर्ट मिला।

आइए जानतें हैं सेंसेक्स और निफ्टी के नए शिखर पर पहुंचने के पीछे 5 सबसे प्रमुख कारण कौन रहे?

1. आरबीआई का रिकॉर्ड डिविडेंड भुगतान

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सरकार को 2.11 लाख करोड़ रुपये का रिकॉर्ड डिविडेंड देने का ऐलान किया है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस डिविडेंड से सरकार को राजकोषीय घाटे (फिस्कल डेफिसिट) को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। एक्सिस सिक्योरिटीज के टेक्निकल एंड डेरिवेटिव्स रिसर्च के हेड, राजेश पालवीय ने कहा, “RBI ने सरकार के अनुमान से 1 लाख करोड़ रुपये अधिक का डिविडेंड दिया है। बाजार के लिए भी यह भी सुखद आश्चर्य था क्योंकि उसे भी डिविडेंड की राशि 1 लाख करोड़ रुपये के करीह ही रहने का अनुमान था। इससे राजकोषीय घाटे के काबू में रहने को लेकर बाजार का भरोसा मजबूत हुआ है।”

स्वास्तिका इन्वेस्टमार्ट के रिसर्च हेड, संतोष मीणा ने कहा इससे राजकोषीय घाटे के साथ ही बॉन्ड यील्ड पर भी असर पड़ेगा और बाजार के लिए यह पॉजिटिव खबर है।

2. चुनाव नतीजों को लेकर घबराहट कम हुई

निवेशकों के बीच लोकसभा चुनावों को लेकर थोड़ी घबराहट कम हुई है उन्हें बीजेपी सरकार की स्पष्ट जीत की उम्मीद है। पालवीय ने कहा, “चुनाव के नतीजों को लेकर घबराहट थी, लेकिन पिछले पांच चरणों में मतदान को देखते हुए, अब नतीजों के 2019 के चुनावों के मुताबिक रहने की उम्मीद लगाई जा रही है। मतदान प्रतिशत में कमी से जो शुरुआत में चिंता बनी थी, वो भी अब हालिया आंकड़ों से दूर हुई है। इससे मौजूदा सरकार के सत्ता में वापस आने के बारे में लोगों में भरोसा बढ़ता है।”

एनालिस्ट्स ने कहा कि केंद्र के स्तर पर पॉलिसी की निरंतरता बने रहने से बाजार को राहत मिलेगी। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के चीफ इनवेस्टमेंट स्ट्रैटजिस्ट, वी के विजयकुमार ने कहा, “निफ्टी का नया रिकॉर्ड बनाना बताता है कि बाजार को चुनाव के बाद राजनीतिक स्थिरता बने रहने की उम्मीद है। मौजूदा रैली भी अच्छी है क्योंकि इसकी अगुआई वाजिव वैल्यूएशन वाले लार्जकैप शेयर कर रहे हैं।”

3. चौथी तिमाही के नतीजे

शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियां इन दिनों अपने मार्च तिमाही के नतीजे जारी कर रहे हैं। अधिकतर कंपनियों के नतीजे बाजार के अनुमानों के मुताबिक रहे हैं और अभी तक उनमें कोई हैरान करने वाली बात नहीं दिखी है। इससे बाजार को सपोर्ट मिला है।

4. मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों की भागीदारी

मिडकैप और स्मॉलकैप भी लगातार नए शिखर छू रहे हैं। 5paisa के लीड रिसर्च एनालिस्ट रुचित जैन ने कहा, “इससे पता चलता है कि ब्रॉडर मार्केट भी मौजूदा तेजी में मजबूती से भाग ले रहा है।” हालांकि उन्होंने कहा कि इस दौरान कुछ शेयरों का वैल्यूएशन ऊंचा हो गया है।

संतोष मीणा को उम्मीद है कि मिडकैप और स्मॉलकैप स्टॉक का प्रदर्शन यहां से कमजोर हो सकता है। दोपहर 1.52 बजे के करीब, बीएसई मिडकैप 0.53 प्रतिशत और बीएसई स्मॉलकैप 0.33 प्रतिशत ऊपर था।

5. FII के वापसी की उम्मीद

विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) ने हाल ही में भारतीय शेयर बाजर में खूब बिकवाली की। हालांकि संतोष मीणा को अनुमान है कि FII अब खरीदारी की ओर रुख कर सकते हैं, जिससे बाजार को अतिरिक्त सपोर्ट मिलेगा।

रुचित जैन ने कहा, “मई सीरीज में FII ने अच्छी शॉर्ट पोजीशन बनाई है और बाजार में इस तेजी के बावजूद, वे शॉर्ट पोजीशन अभी भी बरकरार हैं।” “उनकी करीब 69 फीसदी पोजीशन अभी भी शॉर्ट साइड में हैं। अगर बाजार में मजबूती जारी रहती है, तो वे शॉर्ट्स को कवर करने के लिए आ सकते हैं और इससे बाजार में आगे भी तेजी जारी रहेगी।”

जैन ने कहा कि बाजार का ओवरऑल ट्रेंड काफी मजबूत है। जैन ने कहा, “हमारे पास SIP मोड के जरिए म्यूचुअल फंड से लगातार निवेश आ रहा है, जो पिछले कुछ महीनों में हुए सभी FII बिकवाली की भरपाई कर रहा है।”

डिस्क्लेमरः Moneycontrol पर एक्सपर्ट्स/ब्रोकरेज फर्म्स की ओर से दिए जाने वाले विचार और निवेश सलाह उनके अपने होते हैं, न कि वेबसाइट और उसके मैनेजमेंट के। Moneycontrol यूजर्स को सलाह देता है कि वह कोई भी निवेश निर्णय लेने के पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट से सलाह लें।

यह भी पढ़ें- Changes in Sensex : शुक्रवार को सेंसेक्स में बदलाव का एलान संभव, अदाणी एंटरप्राइजेज की हो सकती है एंट्री!

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *